Hindi stories for class 1 with Moral | Moral Stories

Hindi short Stories for Class 1 with Moral – कहानियाँ हमारी जिंदगी में बदलाव लाने और हमें पहले से बेहतर बनाने का काम कर सकती हैं और इसीलिये मेरे नन्हे मित्रों यह कहानी आप लोगों के लिए बनाया गया है।आपका भविष्य उज्वल हो ऐसी कामना में करता हु।

These stories will put a good impact on your life.

Hindi Story for Class 1 with Moral

These stories will put a good impact on your life.

Hindi short Story for Class 1 with moral – गाँव वालों की रेस

hindi story of race

Hindi stories for class 1 – एक गाँव में एक तालाब था जिसमें कई तरह के डरावने जीव-जंतु रहते थे जैसे मगरमच्छ, साँप, मेढ़क इत्यादि। इन जीवों की डर की वजह से गाँव के किसी भी व्यक्ति में हिम्मत नहीं थी की वो उस तालाब में एक सेकेण्ड के लिये भी घुस जाये।

तालाब में घुसना तो दूर कुछ लोग तो उसके पास भी जाने से डरते थे।

इस बात को ध्यान में रखते हुए गाँव वालो ने एक दिन एक रेस करवाने की सोची जिसमें जो व्यक्ति पहले उस तालाब में तैर के एक किनारे से दूसरे किनारे तक पहुँच जाता उसे एक बड़ा इनाम दिया जाता।

धीरे-धीरे समय बीतता गया और रेस का दिन आ गया, रेस देखने के लिये आस-पास के गाँव के लोगों से भीड़ लगी हुई थी लेकिन रेस में भाग लेने के लिये कोई भी नहीं तैयार था।

तालाब में सर्प और घड़ियाल को देखकर सब इतने घबराये हुए थे कि किसी की भी हिम्मत नहीं हो रही थी कि कोई इस रेस मे भाग ले, इतने में एक इंसान ने तालाब में छलांग लगा दी और देखते ही देखते वो तालाब के दूसरे किनारे पर जा खड़ा हुआ।

सब लोग ये द़ृश्य देखकर हैरान हो गये कि जहां गाँव के किसी भी व्यक्ति में हिम्मत नहीं थी कि वो तालाब के किनारे तक भी चला जाये वही ये इंसान बिना डरे उस पार निकल गया।

वहाँ पर न्यूज वाले भी आये हुए थे और वो सब दौड़कर उस इंसान के पास गये और बोलने लगे कि आपने बहुत बहादुरी का काम किया है, आपको बहुत बड़ा इनाम दिया जायेगा, तो इसके बारे में आप क्या कहना चाहोगे।

वो इंसान बोला, भाड़ में जाये इनाम और भाड़ में जाओ आप पहले ये बताओ मुझे पीछे से धक्का किसने दिया।

Hindi short Story for Class 1 with moral – लालच का फल बुरा होता है

greedy man story

Hindi stories for class 1 – एक समय की बात है एक गाँव में एक कंजूस इंसान एक आलीशान बंगले में रहता था, बंगले के अंदर उसने एक खूबसूरत सा बगीचा भी लगाया हुआ था।

मक्खीचूस इंसान के पास कुछ सोने के सिक्के थे जिनको वो वाटिका में एक गड्ढे के अंदर कुछ पाषाण से दबाकर रखता था।

रोज सोने से पहले वो उस बगीचे में जाता और सोने के सिक्कों को एक बार गिनकर फिर से उसी पाषाण के नीचे गड्ढे में दबा देता।

एक दिन वो गड्ढे में से सोने के सिक्के निकालकर गिन रहा था कि उसे एक चोर ने देख लिया और जैसे वो इंसान रात को सोने के लिये गया, चोर सारा सोने का सिक्का लेकर चला गया।

सुबह उठकर सोने के सिक्कों को वाटिका में न पाकर वो मक्खीचूस इंसान जोर-जोर से चिल्लाने लगा।

ये बात जब उसके पड़ोसियों को पता चली तो उन्होंने उस कंजूस इंसान से कहा कि तुम उन सोने के सिक्कों को वहा बगीचे में क्यों रखते थे, अगर तुम इनको घर के अंदर रखते तो कोई चुरा भी नहीं पाता और जब तुम्हें खर्च करने के लिये उसकी जरूरत पड़ती तो तुम उसे आसानी से ले भी सकते थे।

खर्च ? कंजूस इंसान बोला – न तो मैंने अभी तक उन सोने के सिक्कों से कुछ खरीदा है और न ही खरीदने वाला था।

ये सुनकर पड़ोसी बोले जब तुझे उससे कुछ खरीदना ही नहीं था केवल रखे ही रहना था तो फिर रोता क्यों है, सोने के सिक्कों की जगह पत्थर के टुकड़ों को रख दे, इनकी (भाव) value भी तेरे सोने के सिक्कों जितनी ही है।

Moral of the Story :

Hindi stories for class 1 -किसी चीज का महत्व तब तक ही होता है जब तक वो आपके काम आये अब चाहे वो सोने का सिक्का हो या फिर पत्थर का टुकड़ा।

Hindi Story for Class 1 with moral – चार गायें और शेर

four cow story

Hindi stories for class 1 -एक जंगल में एक घास के मैदान के पास चार गायें रहती थी, चारो गायों में उनके बचपन से ही बहुत घनी दोस्ती थी, हमेशा चारो एक साथ ही रहती थी चाहे चरवाही के लिये जाना होता या फिर कहीं घूमने के लिये।

उसी जंगल में शेर और हाथी जैसे खतरनाक जानवर भी रहते थे लेकिन वो उन गायों का कुछ बिगाड़ नहीं पाते थे।

एक दिन चारो गायों में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया और चारों अलग-अलग दिशा में चरवाही के लिये गयीं, ये बात शेरों को पता चल गयी और वो उन सारी गायों को एक-एक करके मारकर खा गये।

Moral of the Story:

Hindi stories for class 1 -जब हम अपनों के साथ रहते है तो हमसे कोई टकराने की कोशिश भी नहीं करता और मुश्किल से मुश्किल काम भी आसान लगने लगता है।

इसलिये अपने दोस्तों और परिवार वालो का साथ कभी भी नहीं छोड़ना चाहिये।

Hindi Story for Class 1 with moral –हिरण का बच्चा

deer story

Hindi stories for class 1 -एक जंगल में हिरण का परिवार रहता था। उस हिरण  एक प्यारा सा सुंदर सा बच्चा था। एक दिन खरगोश से दौड़ हुई , हिरण का बच्चा खरगोश से आगे भागने लगा। वह जंगल पार कर गया , खेत पार कर गया , नदी भी पार कर गया , पर पहाड़ पार नहीं कर पाया।

चट्टान से टकराकर गिर गया और जोर – जोर से रोने लगा।

बंदर ने उसकी टांग सहलाई पर चुप नहीं हुआ। भालू  दादा ने गोद में उठा कर खिलाया उससे भी चुप नहीं हुआ। सियार ने नाच किया उससे भी चुप नहीं हुआ , फिर हिरण की मां आई उसने उसे प्यार किया और कहा चलो उस पत्थर की पिटाई करते हैं। हिरण का बच्चा बोला नहीं ! वह भी रोने लगेगा।

मां हंसने लगी बेटा हंसने लगा , बंदर हंसने लगा , भालू हंसने लगा सब हंसने लगे।

नैतिक शिक्षा –

बालकों में संवेदना बड़ों से अधिक होती है। उसे बढ़ावा दे।

Moral of this story –

Hindi stories for class 1 -बच्चे भावनाओं के मामले में अधिक शक्तिशाली होते हैं और फिर बड़ों के।

Hindi Story for Class 1 with moral –नन्ही परी

fairy tale story


Hindi stories for class 1 -एक नन्ही सी परी थी। वह बहुत उदास रहती थी , उसकी मुस्कान चेहरे से गायब हो गई थी। वह एक दिन चांद के पास गई। चांद बहुत खुश रहता था , परी ने चांद से खुशी का राज पूछा। चांद ने परी से कहा कि वह रोज धरती पर जाता है। वहां बच्चे उसे मामा कहते हैं। ऐसा सुनकर चांद को उल्लास मिलत है। परी ने भी कहा मैं भी तुम्हारे साथ चलूंगी। धरती पर परी चांद के साथ आई। बच्चों ने चांद के साथ नन्ही परी को देखा और खुशी से गाने लगे – ” चंदा मामा आए साथ में नन्ही परी लाए” |

परी के लिए भी बच्चों ने ढेर सारे गीत गाए। गीत सुनकर परी के खुशी का ठिकाना नहीं था। वह अब उदास नहीं रहती है। वह अब हमेशा खुश रहने लगी है।

नैतिक शिक्षा –

Hindi stories for class 1 -खुशिया सभी जगह है आप महसूस करे और खुश रहें।

Moral of this story :

Hindi stories for class 1 -Happiness is everywhere. Hindi stories fifth story ends here.

ये भी पढ़ें:

चमत्कारी चक्की की कहानी
Moral stories for class 9
New funny kahaniya in hindi 
panchtantra ki shikshaprad kahaniya
Animal Moral Stories for kids

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *